Image default

सेविका बहाली में गड़बड़ी का आरोप,पीड़िता ने मुख्यमंत्री से लगायी न्याय की गुहार

header ads
न्यूज़ सुनने के लिए क्लिक करे

पीड़िता 7 माह से प्रखंड कार्यालय से लेकर जिला कार्यालय का लगा रही चक्कर नहीं मिल रहा न्याय।

4 बार आम सभा स्थगित होने के बाद बिना आमसभा के ही गुपचुप तरीके से सेविका की कर दी गई थी बहाली।

आवेदिका के शिकायत आवेदन के आलोक में डीपीओ के आदेशानुसार जिला भू अर्जन पदाधिकारी के जांच रिपोर्ट सौंपें जाने के 4 माह बाद भी डीपीओ के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं।

पत्र पत्र खेल रहे अधिकारी कार्यालय कार्यालय भटक रही पीड़िता

आवेदिका ने मुख्यमंत्री से न्याय की लगाई गुहार कहा न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या अंतिम विकल्प।

 

मधेपुरा/बिहार:- मधेपुरा जिले के बिहारीगंज प्रखंड क्षेत्र के हथिओंधा पंचायत बढैया गांव वार्ड संख्या 1 के केंद्र संख्या 157 में अवैध तरीके से सेविका की बहाली कि मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। आंगनवाड़ी सेविका के चयन प्रक्रिया में नियमावली का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए आवेदिका कविता कुमारी ने बाल विकास परियोजना कार्यालय से लेकर डीपीओ कार्यालय सहित जिलाधिकारी और मुख्यमंत्री को भी शिकायत आवेदन प्रेषित कर न्याय की गुहार लगाई थी। आवेदिका कविता कुमारी ने आरोप लगाया था कि गलत तरीके से मैपिंग पंजी तैयार कर पिछरा बाहुल्य क्षेत्र को अति पिछड़ा बाहुल्य क्षेत्र बनाकर अवैध तरीके से अति पिछड़ा कोटे से मेघा सूची में सबसे अंतिम पायदान पर आठवें स्थान पर रहे पूजा कुमारी का बहाली कर दिया गया है। अधिकारियों के द्वारा बिना आमसभा किए गुपचुप तरीके से जिस अभ्यर्थी का चयन किया गया उसका नाम मेघा सूची के आठवां स्थान पर अंकित है। जबकि मेरा नाम चौथा स्थान पर अंकित है। विभागीय नियमानुसार में मेघा सूची में मैं प्रथम स्थान पर आती हूँ। इसके बावजूद अधिकारियों के द्वारा साजिश कर मैपिंग पंजी गलत ढंग से तैयार कर मेरे साथ बहुत बड़ा नाइंसाफी किया गया है। 7 माह से प्रखंड से लेकर जिला कार्यालय का चक्कर लगा रही हुँ पर हमें कहीं से न्याय नहीं मिल पा रहा है।
बता दें कि आवेदिका के शिकायत पत्र के आलोक में डीपीओ के आदेशानुसार सीडीपीओ सह सीओ नागेश कुमार मेहता ने डीपीओ को 23 फरवरी को सौंपी रिपोर्ट में कहा था कि सेविका बहाली में कोई अनियमितता नहीं पाई गई है। जबकि सीओ सह सीडीपीओ के रिपोर्ट से असंतुष्ट डीपीओ ने पुनः जिला भू अर्जन पदाधिकारी को स्थल निरीक्षण कर जांच रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया गया। डीपीओ के आदेशानुसार जिला भू अर्जन पदाधिकारी ने स्थलीय जांच कर डीपीओ को अपना जांच रिपोर्ट 16 मार्च 2021 को सौंप दिया था। जिला भू अर्जन पदाधिकारी ने अपने जांच रिपोर्ट में कहा है कि 12 दिसंबर 2020 को आम सभा की तिथि निर्धारित की गई थी जिसकी सूचना चयन समिति के अध्यक्ष,उपाध्यक्ष को नहीं दिया गया था और आम सभा स्थल भी नहीं दर्शाया गया था। सेविका चयन हेतु कुल 8 आवेदकों में से 7 आवेदिका को आम सभा की सूचना नहीं दी गई थी। जिस तिथि को सेविका पूजा कुमारी को चयनित किया गया आम सभा पंजी पर अंकित स्थान बढैया सार्वजनिक शिव मंदिर दिखाया गया है जबकि वार्ड नंबर एक में कोई भी शिव मंदिर उपलब्ध नहीं है। आम सभा पंजी पर हस्ताक्षर करने वाले लोगों ने बताया कि हम लोगों से पंजी पर रात में हस्ताक्षर कराया गया था। हस्ताक्षर करने समय सेविका चयन किए जाने कि जानकारी नहीं दी गई थी। मैपिंग पंजी के अवलोकन से ज्ञात हुआ की मैपिंग पंजी महिला प्रवेक्षिका कंचन कुमारी के द्वारा तैयार किया गया जिस पर कोई तिथि अंकित नहीं है। साथ ही मेपिंग पंजी में परिवार को वर्गानुसार सुसंगत श्रेणी में नहीं रखा गया है रौनियार, ठठेरा को अति पिछरा में दिखाया गया है। इसी प्रकार मुस्लिम को सामान्य जाति दिखाया गया जो सही नहीं है। मैपिंग पंजी, सूचना पंजी, आम सभा पंजी एवं स्थानीय लोगों के बयान से परिलक्षित होता है कि आंगनवाड़ी सेविका चयन की प्रक्रिया त्रुटिपूर्ण एवं संदेहास्पद है। जिला भू अर्जन पदाधिकारी के जांच रिपोर्ट डीपीओ को सोंपे जाने के 4 माह बीत जाने के बावजूद किसी प्रकार की कोई कार्रवाई डीपीओ के द्वारा नहीं की गई है। डीपीओ द्वारा कार्रवाई करने के बजाय जिला भू अर्जन पदाधिकारी के रिपोर्ट के बाद पुनः सीओ सह सीडीपीओ को पत्र प्रेषित कर भू अर्जन पदाधिकारी के समर्पित जांच प्रतिवेदन के आलोक में बिंदुवार प्रतिवेदन मंतव्य सहित मांगा गया है।


आवेदिका कविता कुमारी ने अधिकारियों के द्वारा किसी प्रकार कार्रवाई नहीं किए जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र प्रेषित कर कहा है कि मैं एक गरीब मजबूर एवं लाचार महिला हूँ। मेरे पति लंबी बीमारी से परेशान हैं। मेरे पति का इलाज दिल्ली सरकारी अस्पताल से चल रहा है। जिस वजह से मैं मानसिक रूप से परेशान हो चुकी हूँ। मुझे आशंका है कि क्षेत्र के सफेदपोश लोगों के दबाव में आकर पदाधिकारी निर्णय देने में जानबूझकर आनाकानी कर रहे हैं। मैं कार्यालय का चक्कर लगा लगा कर अब थक चुकी हूँ। अगर मुझे न्याय नहीं मिला तो मेरे पास आत्महत्या करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा।

मैपिंग पंजी में गड़बड़ी को लेकर वार्ड सदस्य ने की थी शिकायत।

बिहारीगंज प्रखंड के हथिऔंधा पंचायत बढ़ैया गांव के वार्ड संख्या 1 की केंद्र संख्या 157 में सेविका बहाली में मैपिंग पंजी में गड़बड़ी को लेकर वार्ड संख्या एक के वार्ड सदस्य उषा देवी ने आवेदन देकर डीएम से शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत था कि मैपिंग पंजी में अति पिछड़ा बाहुल्य क्षेत्र दर्शाया गया है। जबकि उक्त क्षेत्र पिछड़ा वर्ग का है। पिछड़ा कोटि के लोगों की संख्या को भी अति पिछड़ा वर्ग में जोड़कर उसे अति पिछड़ा बाहुल्य क्षेत्र दिखा दिया गया। मैंपिंग पंजी के आधार पर पैसे और पैरवी के दम पर गलत लोगों का चयन कर लिया गया है। उन्होंने शिकायत के माध्यम से चयन को रद्द करने की मांग जिलाधिकारी से की थी ताकि सही व्यक्ति का चयन हो सके।

चार बार आमसभा स्थगित और रद्द होने बाद पांचवी बार बगैर आमसभा के 12 दिसम्बर 2020 को गुपचुप तरीके से नियमावली को ताक पर मेघा सूची के अंतिम आठवाॅ स्थान पर रहे पूजा कुमारी का चयन कर लिया गया। 12 अप्रैल 2018 को पहला आम सभा हंगामें कि भेंट चढी। 19 अप्रैल 2018 को दूसरा आमसभा में चयन समिति के अध्यक्ष (वार्ड सदस्य) और उपाध्यक्ष (पंच) के उपस्थित नहीं होने पर स्थगित किया गया। तीसरा आमसभा 10 जून 2019 को किया गया जिससे हंगामे के कारण रद्द कर दिया गया था चौथा आमसभा 26 अगस्त 2020 को बुलाया गया था। जिसमें सीडीपीओ ने यह कहते हुए आम सभा को रद्द कर दिया कि बैठक में उपस्थित ग्रामीण और अभ्यर्थियों ने मैपिंग पंजी एवं आरक्षण कोटि के निर्धारण पर प्रश्नचिन्ह उठाते हुए हंगामा किया एवं मैपिंग पंजी सुधार के लिए आवेदन दिया। सीडीपीओ ने आम सभा पंजी पर प्रोसोडिंग लिया था कि मैपिंग पंजी का पुन: सुधार कराया जाएगा। बावजूद 12 दिसंबर 2020 को गुपचुप तरीके से आवेदिका पूजा कुमारी का बहाली कर दिया गया।

header ads

Related posts

मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहे 75 शैय्या अनुमंडलीय अस्पताल को दुरुस्त करने को लेकर सूबे के स्वास्थ मंत्री से मिले मंडल अध्यक्ष

Newspointhindi

हत्या के मामले में पुलिस के हत्थे चढ़ा नामजद, सात साल से चल रहा था फरार

Newspointhindi

मुखिया ने कृषक लाभुकों के बीच वितरण करवाई धान बीज का किट

Newspointhindi

कोविड-19 वाॅरियर टोनी कुमारी को पुष्पगुच्छ एवं प्रमाण पत्र देकर किया सम्मानित

Newspointhindi

घर-घर पहुंचकर एसडीएम ने लोगों को किया जागरूक

Newspointhindi

अबतक नहीं शुरू हुआ गेहूँ की खरीद ,किसान बिचौलियों के हाथों बेचने को मजबूर

Newspointhindi

Leave a Comment