Image default

भारतीय जनता पार्टी की जिला कार्यकारिणी की बैठक आयोजित

header ads
न्यूज़ सुनने के लिए क्लिक करे

रेवाड़ी में भारतीय जनता पार्टी की जिला कार्यकारिणी की बैठक आयोजित हुई. प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और खेल मंत्री संदीप सिंह ने शिरकत की.

बीजेपी के जिला कार्यकारिणी की बैठक आयोजित

राजेश शर्मा, संवाददाता(रेवाड़ी)

रेवाड़ी /हरियाणा :-भारतीय जनता पार्टी रेवाड़ी की जिला कार्यकारिणी बैठक ज़िला अध्यक्ष हुकमचंद यादव की अध्यक्षता में स्काई वर्ल्ड स्कूल रेवाड़ी में सम्पन्न हुई I बैठक में प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़  मुख्य वक्ता के रूप में रहे, हरियाणा सरकार में मंत्री संदीप सिंह, भाजपा रेवाड़ी के प्रभारी व पूर्व प्रदेश महामंत्री संदीप जोशी, विधायक लक्ष्मण यादव, वीर कुमार यादव प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य, रेवाड़ी विधानसभा से प्रत्याशी सुनील मूसेपुर मुख्य तौर पर उपस्थित रहे I इस अवसर पर पूर्व प्रदेश प्रवक्ता वीर कुमार यादव, सह प्रवक्ता वंदना पोपली, किसान मोर्चा राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष रामपाल यादव, सफाई आयोग के चेयरमैन कृष्ण कुमार,पूर्व मंत्री विक्रम ठेकेदार,  प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शिंह राम यादव, महामंत्री यशवंत भारद्वाज, ईश्वर चनेजा, भाजपा ज़िला मीडिया प्रभारी विजेंद्र यादव, आईटी प्रमुख नवीन शर्मा, सत्यदेव यादव, दयानंद बेरली मंडल अध्यक्ष, इंदर राव जाटूसाना मंडल अध्यक्ष, राकेश कुमार डहीना मंडल अध्यक्ष, सरदार सिंह नाहड़ मंडल अध्यक्ष, अमरजीत सिंह बावल मंडल अध्यक्ष, राजपाल शर्मा गढ़ी बोलनी मंडल अध्यक्ष, जितेंद्र कुमार खोल मंडल अध्यक्ष, मनोज कुमार धारूहेड़ा मंडल, दीपक मंगला रेवाड़ी,बाबूलाल धावड़ी बीकानेर, सभी जिला के पदाधिकारी, मोर्चा के अध्यक्ष सहित अन्य नेता व पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने रेवाड़ी में प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर कहा कि यह कोई किसान आंदोलन ना होकर एक सिलेक्टिव आंदोलन है, जो विपक्षी पार्टियों के द्वारा पूर्ण रूप से संचालित है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आंदोलन केवल भाजपा-जजपा सरकार के विरोध मात्र के लिए है, जबकि वास्तविकता में हरियाणा प्रदेश किसान हित की योजनाओं को लागू करने के मामले में पूरे देश का प्रथम राज्य है। आंकड़ों का हवाला देते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हरियाणा में आंदोलन कर रहे पंजाब के लोगों को सबसे पहले अपने यहां किसान हित की योजनाएं लागू करवानी चाहिए। पंजाब में किसानों से गन्ना 320 रुपये प्रति क्विंटल लिया जा रहा है जबकि हरियाणा में गन्ने की खरीद 350 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से होती है। इसी प्रकार से पंजाब में आपदा प्रबंधन के तहत 8000 रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा किसानों को दिया जाता है जबकि हरियाणा में यह मुआवजा राशि 12000 रुपये प्रति एकड़ है।
header ads

Related posts

बहादुर महिला शिक्षक की सूझबूझ से लूट की कोशिश नाकाम

Newspointhindi

पुलिस ने वाहन चोर गिरोह के खिलाफ कार्यवाही करते हुए पाँच आरोपियो को किया गिरफ्तार

Newspointhindi

हरियाणा के रेवाड़ी से इंसानियत को शर्मशार कर देने वाली घटना सामने आई

Newspointhindi

लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक में शिकायतों का किया निवारण

Newspointhindi

सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा मोदी सरकार द्वारा रद्द करने के फैसले का स्वागत किया

Newspointhindi

आईएमए ने केंद्रीय कानून लागु करने सम्बन्धी विभिन्न मांगो को लेकर छह घंटे ओपीडी बंद रखकर विरोध दिवस मनाया

Newspointhindi

Leave a Comment