Image default

विश्वविद्यालयों के अतिथि प्राध्यापकों को नियमित करे सरकार – डॉ ब्रजेश सिंह

header ads
न्यूज़ सुनने के लिए क्लिक करे

विश्वविद्यालयों के अतिथि प्राध्यापकों को नवीकरण नहीं,उन्हे नियमित करे सरकार – डॉ ब्रजेश सिंह

मधेपुरा /बिहार :- विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन पठन पाठन जारी रखने हेतु अतिथि सहायक प्राध्यापक को जल्द सेवा विस्तार देने की मांग को लेकर बिहार राज्य विश्वविद्यालय अतिथि सहायक प्राध्यापक संघ के राज्य प्रतिनिधि डॉ ब्रजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में कई लोगों ने पत्र भेज कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्य मंत्री तारकिशोर प्रसाद एवं शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से मांग किया है। ज्ञात हो कि बिहार के विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की व्यापक कमी को देखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्देशानुसार तत्काल नियमित बहाली होने तक के लिए अतिथि सहायक प्राध्यापक की बहाली ली गई थी। उक्त बहाली के तय मानदंडों में रिक्त एवं सृजित पद पर और नियमित बहाली के लिए निर्धारित योग्यता ही रखी गई। फिर ऐसे बहाल शिक्षकों ने इन्हीं कारणों से अपने सेवा नियमितीकरण की मांग को जोर शोर से उठाने लगे और यह मांग जायज होने के कारण विधानसभा में भी गूंजने लगी। फिर इसी बीच इनलोगों की बहाली को ग्यारह महीने बाद नवीकरण की बाते सरकार और विश्वविद्यालयों को याद आने लगी और बारी बारी से बिहार के सभी विश्वविद्यालयों ने अपने विश्वविद्यालय के अतिथि सहायक प्राध्यापकों से ग्रीष्मावकाश के बात ऑनलाइन शिक्षा हेतु पाठ लेना ही बंद कर दिया।

डॉ ब्रजेश सिंह

श्री सिंह ने बताया कि आखिर किस कारण से बहाली के बाद कहीं 2 साल कहीं 3 साल कहीं 18 माह बीतने के बाद विभाग को इनलोगो के 11 माह बाद सेवा विस्तार करने का नियम याद आने लगा और उक्त बाबत सेवा विस्तार के नाम पर विभिन्न तरह की भ्रांतियां फैलने लगी। जबकि हाल में बिहार सरकार द्वारा पुनर्निर्धारित नियमों में पूर्व के बहाल ऐसे शिक्षकों को संबंधित विभाग या महाविद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा कार्य की अनुशंसा के आधार पर ही सेवा नवीकरण करने का फैसला लिया गया है फिर विभिन्न विश्वविद्यालयों में अलग अलग पेंच फसा कर ऐसे उच्च शिक्षा एवं शिक्षाकर्मियों के साथ अपमानजनक रवैया क्यों? आवेदन भेजने वालों में बीएनएमयू के संघ संयोजक डॉ० राजीव जोशी, प्रदेश प्रवक्ता सुमंत राव, डॉ० अर्जुन कुमार, बिहार राज्य महिला अतिथि सहायक प्राध्यापक संघ की डॉ०  सुनीता कुमारी, डॉ०  मिंकी सिंह, डॉ०  अनुजा कुमारी, डॉ०  पम्मी सिंह, डॉ०  वंदना कुमारी, डॉ० कोमल कुमारी, डॉ० साधना कुमारी, डॉ० हनी सिन्हा आदि सहित दर्जनों शिक्षक शामिल थे।

header ads

Related posts

युवा हौंडा क्रिकेट क्लब की लगातार पांचवीं जीत के साथ अपने ग्रुप में टॉप पर

Laloo Prasad

मृतक सुनील के परिजनों से मिलने पहुंचे जदयू के प्रदेश अध्यक्ष

Newspointhindi

नदी में युवक का लाश मिलने से क्षेत्र में दहशत

Newspointhindi

परीक्षा केंद्र पर तैनात सिपाही की पिटाई का वीडियो वायरल

Laloo Prasad

यूपी : इस विभाग में बंपर वैकेंसी, वेतन 59500, करें आवेदन

Newspointhindi

कोरोना से बचाव के लिए हुआ मास्क वितरण

Newspointhindi

Leave a Comment