Image default

डीलर सोनम कुमारी के मामले में एसडीएम ने किया सुनवाई, फैसला रखा सुरक्षित

header ads
न्यूज़ सुनने के लिए क्लिक करे

डीलर सोनम कुमारी के मामले में एसडीएम ने किया सुनवाई, फैसला रखा सुरक्षित

सुनवाई से पूर्व बगैर नोटिस प्राप्त लाभुकों को एसडीएम ने लौटाया, कहा भीड़ से कोरोना संक्रमण का खतरा

यकीनन सफेदपोश की आड़ में वित्तीय अनुशासनहीनता के दम पर खुद को बचाने का प्रयास कर रही है डीलर



आकाश दीप संवाददाता,उदाकिशुनगंज (मधेपुरा)

मधेपुरा /बिहार :- मधेपुरा जिले के उदाकिशुनगंज मुख्यालय अन्तर्गत ग्राम पंचायत मंजौरा के डीलर सोनम कुमारी के मामले में एसडीएम ने सुनवाई प्रक्रिया पूरी कर ली है। विधि-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए उन्होंने उक्त मामले में फैसला भी सुरक्षित रख लिया है। शनिवार को अन्तिम सुनवाई की सूचना पाकर सैकड़ों की संख्या में लाभुक अनुमंडल कार्यालय उदाकिशुनगंज पहुंच गये। सुनवाई से पूर्व हीं लाभुकों की भीड़ देखकर एसडीएम ने कहा बगैर नोटिस प्राप्त लाभुकों को सुनवाई प्रक्रिया में शामिल नहीं किया जा सकता है, इन्हें वापस लौटना होगा। इस प्रकार की अप्रत्याशित भीड़ से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

सुनवाई मे अनुमंडल कार्यालय पहुंचे लाभुक

दुसरी ओर लाभुकों का कहना था कि वे स्वयं एसडीएम से मिलकर डीलर सोनम कुमारी की करतूत का पर्दाफाश करेंगे। सफेदपोश की आड़ में राशनकार्ड उपभोक्ताओं को परेशान करने वाला चेहरा सामने होगा, परन्तु कोरोना संक्रमण के मद्देनजर ऐसा संभव नहीं हो सका। एसडीएम राजीव रंजन कुमार सिन्हा के आदेश पर बीडीओ प्रभात केसरी ने अनुमंडल कार्यालय पहुंचकर सभी लाभुकों को समझाया-बुझाया। डीलर के मामले में फैसला बुधवार को सुनाने की तारीख तय की गई। अंततः जिद पर अड़े लाभुकों को दर्जनों पुलिसकर्मी द्वारा बल प्रयोग कर हटाया गया।

सुनवाई मे भाग लिए लाभुक,उचित कारवाई की माँग की

प्राप्त नोटिस के आधार पर लाभुक पांडव कुमार, सुरेंद्र ठाकुर, बैजु ठाकुर, पूनम देवी, पिंटू ठाकुर, विकास ठाकुर, रूपेश पासवान, संजय कुमार जयसवाल, विनोद कुमार, राम कुमार साह समेत अन्य लाभुकों ने एसडीएम की सुनवाई प्रक्रिया में भाग लिया। पुछताछ के दौरान उन्हें मामले की विस्तृत जानकारी दी। जबकि लौटाये गये सैकड़ों लाभुकों का कहना है कि वित्तीय अनुशासनहीनता के दम पर कई सफेदपोश डीलर को बचाने में लगे हुए हैं। इससे पूर्व भी दो-दो सत्ताधारी जदयू के प्रखण्ड अध्यक्ष के द्वारा डीलर और लाभुकों के बीच समझौता की पहल की गई थी। प्रयास फलीभूत न होने पर यकीनन राजनीतिक शक्तियों की आड़ में डीलर खुद को बचाने में जद्दोजहद कर रही है। आखिरकार कार्रवाई से डीलर बच जाती है तो सुशासन सरकार सरकार की गिरती शाख का एक और कारण होगा। हालांकि राशनकार्ड उपभोक्ताओं का अन्तिम स्वर यही कह रहा था कि वे उक्त डीलर की कार्यशैली के खिलाफ आमरण अनशन को भी तैयार हैं…

राजीव रंजन सिन्हा ,एसडीएम उदाकिशुनगंज

प्रशासन ने क्या कहा ..

मामले में एसडीएम राजीव रंजन सिन्हा ने बताया कि दोनों पक्षों की बातें सुनी गई है। फैसला सुरक्षित रखा गया है, जो भी निर्णय होगा सही होगा। गलत निर्णय नहीं होगी। हमने 10 लाभुकों को बुलाया था लेकिन वह लोग 200 लोगों को लेकर आ गया जिससे कोविड-19 का खतरा हो सकता था। इसलिए भीड़ को हटाई गई।

 

यह भी पढ़ें..डीलर के बचाव पक्ष में उतरे जदयू नेताओं को ग्रामीणों ने किया गांव के बाहर ..https://newspointhindi.com/villagers-outside-the-village-to-jdu-leaders-who-came-in-defense-of-the-dealer/

header ads

Related posts

कोयला दुकान का दीवारअचानक गिरने से तीन लोग जख्मी

Newspointhindi

वर्चुअल मिटिंग में सीडीपीओ ने दिए सेविका को कोविड टीकाकरण जागरूकता के टास्क

Newspointhindi

फरियादी बनकर सरकार का दरवाजा लगातार खटखटाती रही खाड़ा की बहू रश्मि झा

Newspointhindi

घर-घर पहुंचकर एसडीएम ने लोगों को किया जागरूक

Newspointhindi

विभूतिपुर विधायक अजय कुमार पर एक बार पुनः हुआ जानलेवा हमला ,अंगरक्षक हुए जख्मी

Newspointhindi

अवैध कब्जा वाली जमीन से जबरन मिट्टी खनन कार्य में लिप्त ट्रैक्टर-ट्राॅली को प्रशासन ने किया जब्त

Newspointhindi

1 comment

Leave a Comment