रजौली प्रखंड क्षेत्र की सेविका एवं सहायिकाओ ने लंबित मांगो एवं स्थानीय मांगों को लेकर किया दिवसीय धरना प्रदर्शन - News Point Hindi
Image default

रजौली प्रखंड क्षेत्र की सेविका एवं सहायिकाओ ने लंबित मांगो एवं स्थानीय मांगों को लेकर किया दिवसीय धरना प्रदर्शन

Listen to this article

रजौली प्रखंड क्षेत्र की सेविका एवं सहायिकाओ ने लंबित मांगो एवं स्थानीय मांगों को लेकर किया दिवसीय धरना प्रदर्शन

मांगें पूरी नहीं होने पर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगी सेविकाएं

लालू प्रसाद यादव संवाददाता नवादा

नवादा / बिहार :- बिहार राज्य आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका संघ के रजौली प्रखण्ड इकाई द्वारा बाल विकास परियोजना कार्यालय के बाहर मंगलवार को प्रखण्ड अध्यक्षा मुन्नी देवी,उपाध्यक्ष सरोज कुमारी एवं सचिव पम्मी कुमारी के नेतृत्व में लंबित मांगो एवं स्थानीय मांगों को लेकर सेविकाओं व सहायिकाओं का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया।

संघ की प्रखण्ड अध्यक्षा मुन्नी देवी ने बताई कि बिहार राज्य आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका संयुक्त संघर्ष समिति के आवाहन पर 9 जनवरी को परियोजना पर एकदिवसीय धरना प्रदर्शन के माध्यम से सेविका व सहायिका के लंबित मांगों की पूर्ति के साथ स्थानीय मांग सहित मांग पत्र सीडीपीओ सुशीला धान को दिया गया।

उनकी मांगों में सेविका व सहायिका की सेवा को नियमित कर सेविका को 26000 रुपये प्रति माह व सहायिका को 18000 रुपये प्रति माह देना,बाल विकास परियोजना की निजीकरण पर रोक लगाना,सेविका व सहायिका को ग्रेच्युटी,पेंशन सहित सभी प्रकार के सुरक्षा का लाभ देना,नई शिक्षा नीति,पोषण ट्रैकर,डिजिटल हेल्प मिशन एवं लेबर कोड कल अविलंब रद्द करना,नये मोबाइल के व्यवस्था होने तक मोबाइल सम्बन्धी किसी भी प्रकार की कार्रवाई व कटौती को रद्द करना व काटी गई राशि को वापस करना,सेविका व सहायिका चयन प्रक्रिया पर रोक लगाना,सेविका व सहायिका के मरणोपरांत उनके आश्रितों को चार लाख रुपये देना व बाल विकास परियोजना में आवंटन की कटौती न करना शामिल है।वहीं संघ की सचिव पम्मी कुमारी ने बताई कि लंबित मांगों के अलावे कुछ स्थानीय मांग भी किये गए हैं।

जिनमें वाउचर जमा करने के बाद अविलंब रिसीविंग देना,बिना तौल के चावल उठाव नहीं करवाने व सरकारी व्यवस्था से सेविका को केन्द्र या रख-रखाव के स्थान पर पहुंचाना,चिन्हित करके किसी खास सेविका व सहायिका को परेशान न करना बल्कि सभी आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण समान ढंग से करना,मंहगाई के अनुसार पोषाहार की राशि उपलब्ध कराना,वर्षों से निजी भवनों में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों का किरायों का भुगतान लंबित है।

जिसका भुगतान सुनिश्चित करना एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में पीने के लिए पानी व शौचालय के व्यवस्था के बिना केन्द्र को शिफ्ट न कराया जाए, साथ ही शौचालय के लिए दिए गए राशि को खर्च करने के लिए स्टीमीट दिया जाए ताकि सेविका बना सके।एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के दौरान सेविका व सहायिका ने जमकर नारेबाजी की।साथ ही बताई कि आगामी 18 जनवरी को जिला स्तरीय प्रदर्शन किया जाएगा।यदि उनकी मांगों को सरकार पूरा नहीं करती है तो वे लोग अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगी।

इस दौरान संजू कुमारी,मनीषा कुमारी,मधु कुमारी,मंजू कुमारी,स्मिता कुमारी, कुंती कुमारी,रीना कुमारी रुकमणी देवी,पुष्पा कुमारी, ललिता कुमारी,रिंकू कुमारी,सोनी कुमारी, सुनैना देवी के सहित दर्जनों सेविका व सहायिका उपस्थित थीं।

मिलता - जुलता खबरें

शराब पीकर झूमने के चक्कर में 5 बाराती पहुंचे हवालात

priya jha

नवादा के मिर्जापुर मोहल्ला में रसोई गैस सिलेंडर के लिकेज हाेने से लगी आग, एक युवक झुलसकर जख्मी

Laloo Prasad

बिहार सियासत: डिप्टी सीएम बनते ही तेजस्वी ने केंद्रीय जांच एजेंसियों को किया चैलेंज

NewsPointHindi Desk

Leave a Comment